न्यायधीश (Judge) कैसे बने | Judge Kaise Bane पूरी जानकारी हिंदी में

हम भारत में रहते है जहाँ सब हमारे बस में है यानि भारत एक ऐसा देश है जहाँ हर व्यक्ति को एक सामान अधिकार दिया गया है | आप चाहे छोटे जाती के है या बड़े जाती वाले सभी को एक समान  अधिकार है | भारत में न्याय को स्वतंत्र रखा गया है, जिससे किसी के द्वारा किये गए गलत कामों पर कोई भी दोष लगा सकता है | हमारे यहाँ लोगों को परेशानी और उनके ऊपर होने वाले गलत कामों पर फैसला लेने के लिए न्यालय है, जहाँ कोई भी नागरिक अपने हित में न्याय के लिए अपील कर सकता है |

 

एक न्यायधीश का दर्जा देश के कानून प्रणाली से भी ज्यादा होता है, अदालत में न्यायधीश सबसे शीर्ष व्यक्ति होता है और न्यायधीश का काम क़ानूनी लॉ प्रणाली के शीर्ष पर पहचान करना और उसकी रखवाली करना होता है जिसे Guardian Of Law भी कहाँ जाता हैं |

 

Judge Kaise Bane | न्यायधीश कैसे बने 

 

इस आर्टिकल में हम न्यायधीश (Judge) के बारे में पूरी जानकारी लेने वाले है | जज का पोस्ट कानून से भी ऊपर होता है और इनका काम कानून का रक्षा करना भी होता है| न्यायधीश का पोस्ट बहुत ही बड़ा पोस्ट है और इस पोस्ट को पाने के लिए बहुत ही ज्यादा मेहनत करना होता है |

तो यदि आप न्यायधीश बनना चाहते है तो इस लेख में हम “Judge Kaise Bane” के बारे में पूरी जानकारी लेंगे | उम्मीद है इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आपको न्यायधीश बनने से सम्बंधित सभी सवालों का जवाब मिल जायेगा |

 

 

न्यायधीश कैसे बने

इस पोस्ट में आगे बढ़ने से पहले हमें ये समझाना होगा, अगर कोई व्यक्ति जज यानि न्यायधीश बनना चाहता है तो वह किसी-किसी लेवल तक के जज बन सकता है | इसमे कुछ लेवल इस लेवल पर कोई भी व्यक्ति जज बन सकता है जैसे 

  • Magistrate/Civil Judge
  • Session Judge/District Judge
  • High Court Judge
  • Supreme Court Judge

 

इन चारों में से किसी भी स्तर का न्यायधीश बना जा सकता है | न्यायधीश में सबसे बड़ा पोस्ट सुप्रीम कोर्ट जज का होता है | यदि किसी व्यक्ति को इंडिया के अन्दर किसी राज्य में मजिस्ट्रेट या डिस्ट्रिक्ट जज बनना है तो उसके पास का लॉ की डिग्री होनी ही चाहिए , उसके बाद है वो व्यक्ति एक राज्य या जिला के अन्दर जज बन सकता हैं |

 

 

मजिस्ट्रेट और सिविल जज कैसे बने

यदि कोई व्यक्ति भारत के किसी भी राज्य में न्यायधीश बनना चाहता है तो उस व्यक्ति के पास लॉ की डिग्री होनी बहुत ही ज्यादा जरुरी है उसके बाद है व्यक्ति न्यायधीश बनने के लिए आवेदन कर सकता है | इसमे कुछ जरुरी मापदंड है जिसको पूरा करना होगा | 

 

योग्यता क्या होनी चाहिए 

Civil Judge बनने के लिए किसी भी कॉलेज से 3 या 5 की लॉ की डिग्री होनी चाहिए | आप चाहे तो आप अपने लॉ के डिग्री को किसी भी कॉलेज से ले सकते है परन्तु आपका कॉलेज B.C.I (Bar Council of India) से Approve होने चाहिए | 

अपनी लॉ की पढाई हम 12वीं या ग्रेजुएशन के बाद से कर सकते है | जब हम लॉ की डिग्री पूरा कर लेते है उसके बाद हम Magistrate या Civil Judge का एग्जाम दे सकते है, इस एग्जाम को हर राज्य के अन्दर करया जाता है, तो आप भारत के किसी भी राज्य से मजिस्ट्रेट या सिविल जज के लिए एग्जाम दे सकते हैं |

 

मजिस्ट्रेट/सिविल जज बनने के लिए डिग्री 

  • B.A.LL.B/LLB

आयु 

न्यूनतम आयु 21 वर्ष और अधिकतम आयु 35 वर्ष होनी चाहिए |

 

तहसीलदार कैसे बने? Tahsildar Kaise Bane?

 

 

डिस्ट्रिक/सेशन न्यायधीश कैसे बने

अभी तक हमलोगों ने ये समझ लिया है सिविल जज कैसे बनते है | सिविल और मजिस्ट्रेट पद से भी बड़ा पद डिस्ट्रिक्ट और सेशन जज का होता है | डिस्ट्रिक्ट न्यायधीश बनने के लिए कुछ जरुरी योग्यता है जिसको पूरा करना होता है जिससे में से सबसे जरुरी है, जो व्यक्ति सेशन और डिस्ट्रिक्ट जज बनना चाहता है वह व्यक्ति इंडिया का नागरिक होना चाहिए | 

 

योग्यता 

यदि हम योग्यता की बात करे तो Session/District Judge बनने के लिए उम्मीदवार के पास कम से कम 5 से 7 वर्ष तक का एक्स्पेरिंस होना चाहिए |

न्यूनतम आयु 35 वर्ष और अधिकतक आयु 45 वर्ष होना चाहिए | राज्य के अनुसार आयु की योग्यता अलग-अलग हो सकती हैं |

 

 

हाई कोर्ट जज कैसे बने

किसी भी व्यक्ति को इंडिया के किसी भी राज्य के अन्दर हाई कोर्ट का जज बनने के लिए इंडिया का नागरिक होना बेहद ही जरुरी है | यदि किसी व्यक्ति को हाई कोर्ट का जज बनना है तो ऐसे में उस व्यक्ति के पास न्यूनतम 10 साल का हाई कोर्ट का प्रैक्टिस होना जरुरी है |

प्रैक्टिस के लिए व्यक्ति किसी भी सिनिअर वकील या जज का असिस्टेंट बन सकता है |

  • 10 Year Judicial Officer
  • 10 Years High Court Advocate 

आयु

हाई कोर्ट न्यायधीश बनने के लिए किसी भी तरह का आयु सीमा नहीं रखा गया है, परन्तु हाई कोर्ट के जज की उम्र 62 वर्ष पुरे होने पर रिटायर कर दिया जाता है |

 

 

 

सुप्रीम कोर्ट न्यायधीश कैसे बने

इंडिया का सबसे बड़ा न्यायलय यानि Supreme Court Judge बनने के लिए किसी भी प्रकार की आयु सीमा नहीं है | चुकी सुप्रीम कोर्ट भारत का उच्च न्यायलय है तो इसमे जज बनना बहुत ही कठिन है | अगर किसी व्यक्ति को सुप्रीम कोर्ट का न्यायधीश बनना है तो उसके पास देश के किसी भी उच्च न्यायलय से न्यूनतम 10 से 12 साल का एक्सपीरियंस होना चाहिए |

  • 10 Years High Court Advocate 
  • 5 Year High Court Judge 

 

कैसे वन विभाग अधिकारी (Forest Officer) बन सकते है | फारेस्ट ऑफिसर कैसे बने |

 

 

अभी तक

किसी भी व्यक्ति को न्यायधीश बनना है तो उसे तभी से तैयारी शुरू कर देना चाहिए, जब वह लॉ के डिग्री के लिए किसी कॉलेज में एडमिशन लेता है | इन सभी के अलावा एक जज किसी भी प्रकार के सही निर्णय लेने में सक्षम होता है इसलिए उसे न्यायधीश भी कहा जाता है तो न्यायधीश बनना है तो हमें बहुत ही कड़ी मेहनत करना होगा | अगर कोई advocate आपके सम्पर्क में है तो आप उससे बहुत कुछ सिख सकते है इसलिए कोशिश करें आप किसी भी वकील या जज से सलाह लेते रहें |

 

न्यायधीश की तैयारी करते समय एक व्यक्ति को कानून और लॉ के बारे में पूरी जानकारी होनी चहिये और कानून के अन्दर कितनी धराए होती है उसके बारे में भी जानकारी होनी चाहिए |

 

आशा है यदि आप में से कोई भी व्यक्ति जज बनने के लिए तैयारी कर रहा है या जज बनना चाहता है तो उसे इस पोस्ट को पढ़ने के बाद काफी ज्यादा मदद मिली होगी | किसी भी प्रकार के सवाल के लिए निचे कमेंट कर सकते हैं |

Leave a Comment

error: Content is protected !!