प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना|Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana 2020

Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana 2020 आज अगर हमारे देश के जो सबसे मजबूत पॉइंट है वो है किसान जो हमारे देश के लिए बहुत कुछ करते आ रहे हैं। 

 जब से भारत के पद को प्रधान मंत्री मोदी ने संभाला है तभी से भारत के जितने भी किसान है उन्हें बहुत कुछ मोदी सरकार की तरफ मिला है और समय पर मोदी सरकार ने किसानों के प्रति कई अहम फैसलें भी लिए हैं। ये सभी के सभी फैसले किसानों की उज्जवल भविष्य के हित में है। 

31 मई 2019 केंद्र सरकार की तरफ से किसानों भाईयों के लिए एक योजना की शुरुआत की गई, और इस योजना का नाम है Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana (प्रधान मंत्री किसान मानधन योजना) इस योजना के तहत किसानों को पेंशन दिया जायेगा। 

तो यदि आप इस योजना के बारे में ज्यादा जानकारी प्राप्त करना चाहते है या ऑनलाइन आवेदन करना चाहते है तो इस आर्टिकल को पूरा पढ़िए। इसे पढ़ने के बाद आप इस योजना के लाभ ले सकेंगे।

 

योजनाप्रधानमंत्री किसान मानधन योजना
कब शुरू किया गया थायोजना की शुरुआत 31 मई 2019
लाभार्थीकिसान
लाभपेंशन
आवेदन का माध्यमऑनलाइन आवेदन
ऑफिसियल वेबसाइटpmkmy.gov.in

प्रधान मंत्री किसान मानधन योजना क्या है?

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने साल 2019 में भारत के किसानों के प्रति कई महत्वपूर्ण फैसले लिए है उसी में सबसे बड़ा फैसला था प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना। इस योजना के तहत भारत के जितने भी गरीब मजदूर किसान है जो आर्थिक रूप से कमजोर है उनके लिए पेंशन देने की सुविधा दी जाएगी। 

यदि कोई किसान इस योजना से जुड़ना चाहता है तो 18 से 40 साल तक के कोई भी किसान इस योजना का लाभ ले सकता हैं। जो किसान इस योजना से जुड़ता है उसे अपने आयु के अनुसार कमाई के बहुत ही ज्यादा छोटे हिस्से को आंशिक रूप से योगदान करना होता हैं। 

और ये योगदान आयु के अनुसार करना होता है। इसमें किसान को 55 रुपये से लेकर 200 रुपये तक एक महीने में योगदान करना होता हैं। और अपने आयु के 60 साल पुरे होने तक करना होगा। जब किसान का उम्र 60 साल पूरा हो जायेगा उसके बाद किसान को सरकार की तरफ से महीनें के 3000 पेंशन के रूप में दिया जायेगा। यानि की किसान को 36000 सालाना के पेंशन सरकार की तरह से हमेशा मिलेगा।

किसान योजना की सबसे अच्छी बात यह है अभी तक इस योजना में पुरे भारत के 20Lakh से भी ज्यादा किसान जुड़ चुके हैं और आने वाले समय में लगातार इस संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिल रही हैं।

तो अगर कोई ऐसा किसान भाई है जो योजना से अभी भी परिचित नहीं हैं वो इस आर्टिकल के माध्यम से पूरी जानकारी ले सकते है और जल्द से जल्द योजना के लाभ ले सकते हैं

 

योजना का लाभ कैसे मिलेगा

प्रधान मंत्री किसान योजना का मकसद है गरीब किसानों को लाभ पहुंचना। वैसे किसान जो आर्थिक रूप से बहुत ही कमजोर होते है और उनके पास बहुत ही कम खेती है। 

ऐसे किसान अपने घर के इस्तिथि ठीक न होने के कारण अपने आने वाले समय के लिए किसी भी प्रकार की बचत नहीं कर पाते है। इसलिए केंद्र सरकार की तरफ से इस योजना की शुरुआत की गई हैं। 

अब इससे जितने भी सीमांत किसान हैं वो अपने छोटे सी बचत से 60 वर्ष के बाद 3000 पेंशन के रूप में सरकार की तरफ से हर महिने पा सकते हैं। 

इसके साथ ही इस योजना से जितने भी भूमिहीन किसान है वो पुढापे में आत्मनिर्भर हो सकेंगे और इससे उन्हें सामाजिक सुरक्षा भी मिलेगा। Pradhan mantri Kisan Mandhan Yojana इसके साथ ही से जुड़ने के लिए न्यूनतम उम्र 18 वर्ष अधिकतम उम्र 40 वर्ष होने चाहिए।

 

किन्हें योजना का लाभ नहीं मिलेगा

जब बात आती है इस योजना से जुड़ने की तो इसके बारे में अभी तक हमलोगों ने पूरी तरह से जानकारी प्राप्त कर ली है परन्तु अब हमें ये भी समझाना जरुरी है कौन-कौन से ऐसे किसान है जो इस योजना का लाभ नहीं ले सकते है। तो जो किसान नेशनल पेंशन स्कीम, कर्मचारी भविष्य निधि स्कीम, और कर्मचारी राज्य बीमा निगम (ESIC) स्कीम जैसे अन्य किसी भी योजना से जुड़े है तो वैसे किसान इस योजना का लाभ नहीं ले सकते हैं। 

इसके अलावा वैसे किसान जिन्होंने प्रधानमंत्री श्रम योगी मान धन योजना और प्रधानमंत्री लघु व्यापारी मान-धन योजना से जुड़े किसान भी इस योजना से नहीं जुड़ सकते है तो अगर कोई किसान इस योजना के लिए आवेदन करना चाहता हैं उससे पहले इन सभी को सुनिश्चित कर लें। उसके बाद ही योजना Pradhan Mantri Kisan Mandhan Yojana के लिए Apply करें।

 

कैसे करना होगा योगदान

अभी हमें ये समझना जरूरी है इस योजना से जुड़ने के बाद किस प्रकार से किसान को कंट्रीब्यूट करना हैं कोई किसान इस योजना से जुड़ता है और उसका उम्र 20 वर्ष है तो उसे महीनें के 61 रुपये योगदान 60 वर्ष पुरे होने तक देने होंगे। और इस प्रकार से किसान को पुरे एक साल में मात्र 732 रुपए योजदान देने होंगे। 

वैसे ही अगर कोई किसान 25 वर्ष के उम्र में इस योजना से जुड़ता है तो उसे महीने के 80 रुपये 60 साल पुरे होने तक देने होंगे। 

परन्तु इस योजना की सबसे अच्छी बात है की आप जितने योजदान 1 महीनें में अपने नाम पर जमा करते है उतना और सरकार योगदान आपके नाम पर जमा करेगी। यानि कोई किसान महीने के 60 रुपये का योगदान करता है तो सरकार की तरफ से 60 रुपये और आपके नाम पर जमा किया जाता है जिससे आपके नाम पर महीने में कुल 120 रुपया जमा होता हैं।

 जब किसान का उम्र 60 वर्ष पूरा हो जाता है उसके बाद उसे 3000 का पेंशन सरकार की तरफ से मुहैया हर महीनें कराया जाता हैं।

यदि किसान योजना को बीच में से छोड़ता है तो उसके पैसे फसने की कोई चिंता नहीं हैं। क्योकि उसे योजना को छोड़ने के बाद जितने भी पैसे उसने जमा किये होंगे वो सभी के सभी ब्याज के साथ वापस मिल जायेंगे।

किसी कारण से किसान की मौत हो जाता है तो उसके पत्नी को 50% पेंशन मिलते रहेंगे। प्रधानमंत्री किसान मानधन योजना के फण्ड को मैनेज करने की जिम्मेदारी भारतीय जीवन वीमा (LIC) को सरकार ने सौंपा हैं।

 

किसान मानधन योजना के लिए आवेदन कैसे करें

अगर कोई किसान प्रधानमंत्री मानधन योजना से जुड़ने के लिए आवेदन करना चाहता है तो उसे इस प्रोसेस को खुद से करना होगा। और ये एक ऑनलाइन प्रोसेस है आवेदन करने के लिए किसान जिस भी क्षेत्र में रहता है उसके नजदीकी CSC Center पर Visit करना होगा। 

उसके साथ ही किसान को अपने साथ कुछ डॉक्यूमेंट को साथ ले जाना होगा। जैसे सबसे पहले आधार कार्ड, बैंक का पासबुक आईएफएससी के साथ लेना जाना होगा, रजिस्ट्रेशन के लिए 2 पासपोर्ट साइज फोटो और साथ में खसरा-खतौनी की नकल ले जानी होगी। 

सभी डॉक्यूमेंट को CSC पर देने के बाद जो भी CSC अधिकारी होगा, वो आपके ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन को कुछ समय में पूरा कर देंगे। पूरा होने के बाद प्रथम योगदान को कैश के रूप में देना होगा। 

ये सभी प्रोसेस पूरा होने के बाद CSC अधिकारी की तरफ से unique Kisan Pension Account Number (KPAN) और किसान कार्ड दिया जायेगा। तो कुछ इस प्रकार से कोई भी किसान योजना से जुड़ सकता हैं। इस योजना के बारे में ज्यादा जानकारी हेतु Official Website पर विजिट करें।

टोल फ्री नंबर – tel:180030003468

Leave a Comment

error: Content is protected !!
Share via
Copy link